पथरी का होम्योपैथिक इलाज

गुर्दे की पथरी का जर्मन होम्योपैथिक दवा से जड़ से ईलाज

बिना ऑपरेशन ईलाज

दवा का कोई दुष्प्रभाव नहीं

ऑनलाइन फ्री डॉक्टर कंसल्टेशन उपलब्ध

अब तक हम हजारों मरीजो का पथरी का होम्योपैथिक इलाज कर चुके हैं, देखिये मरीजों की रिपोर्ट्स

हमारे क्लिनिक में 8 साल से पथरी का होम्योपैथिक इलाज मरीज की रिपोर्ट और दिक्क्तों के अनुसार किया जाता है| 50+ पथरी रोगी प्रतिदिन हमारे डॉक्टर से कंसल्ट करते हैं | मरीज की रिपोर्ट और दिक्कतों के अनुसार अगर ऑपरेशन करवाना जरूरी है, तो आपको हमारे डॉक्टर आपके केस के अनुसार सही जानकारी देंगे |
N

12000+ पथरी रोगियों का सफलतापूर्वक ईलाज

N

50 + पथरी रोगी प्रतिदिन हमारे डॉक्टर से कंसल्ट करते हैं

N

95% मरीजों को दुबारा पथरी नहीं बनी

आज ही अपना डॉक्टर परामर्श बुक करें और पाएं अनुभवी होम्योपैथिक डॉक्टर्स से अपने रोग के मूल-कारण पर आधारित व्यक्तिगत ट्रीटमेंट।

✅ एक्सपर्ट डॉक्टर्स से परामर्श
✅ ऑनलाइन परामर्श में पाएं क्लिनिक जैसा अनुभव
✅ सही और सुरक्षित ट्रीटमेंट
✅ ऑनलाइन रिपोर्ट शेयरिंग की सुविधा
✅ दवाई कोर्स तक नि: शुल्क फॉलोअप
✅ दवाइयों की होम डिलीवरी

गुर्दे की पथरी की होम्योपैथिक दवा कैसे काम करती है – Gurde ki pathri ka homeopathic ilaj

होम्योपैथी में गुर्दे की पथरी का इलाज

हम ईलाज के लिए सिर्फ जर्मन होम्योपैथिक दवाइयों का इस्तेमाल करते हैं, जो आपकी बीमारी की जड़ पर काम करती है और बिना किसी दुष्प्रभाव के आपको पथरी से छुटकारा दिलाती हैं. अब तक हम दुनिया भर में हजारों पथरी के मरीज़ो का ईलाज कर चुके हैं. हमारे डॉक्टर मरीज की पथरी के आकार, बीमारी के लक्षणों और मरीज की दिक्कतों के आधार पर दवाईयां देते है.

गुर्दे की पथरी वाले मरीज को कुछ दिक्कतें हो सकती हैं जेसै के पेशाब में जलन, दर्द, पेशाब रुक रुक कर आना जा ज्यादा आना, पेशाब में खून आना आदि, हम इन सब दिक़्क़तों की अलग अलग दवा भी साथ भेजते हैं,  ताकि मरीज को हमारी दवाई के कोर्स के वक्त किसी भी परेशानी का सामना न करना पड़े. जब भी मरीज को इनमे से कोई भी दिक्कत आती है तो वह उसकी दवा लेकर तुरन्त दिक्कत से राहत पा सकते है. पित्त की पथरी वाले मरीज को भी उसकी दिक्क्तों के अनुसार दवाई दी जाती है.

दवा मंगवाने से पहले आपको हमे अपने बारे में थोड़ी जानकारी देनी होती है, जो आप हमे निचे दिए गये फॉर्म में दे सकते हैं. उसके बाद आपको अपनी रिपोर्ट्स हमें WhatsApp पर भेजनी होती है. आपकी रिपोर्ट्स आने के बाद  हमारे डॉक्टर आपको कॉल करके आपकी बीमारी के बारे में पूरी जानकारी लेते हैं. अगर आपको कोई बीमारी के बारे अन्य जानकारी लेनी हो तो उस समय आप कॉल पर ले सकते हैं. मरीज की रिपोर्ट्स और बीमारी के लक्षणों के अनुसार आपको दवाई दी जाती है.

 

हमारी पथरी तोड़ने की होम्योपैथिक दवा से कुछ महीने में आपकी गुर्दे की पथरी छोटे छोटे टुकड़ों में टूट के घुल के अपने आप पेशाब के रस्ते निकल जाती हैं और आपको कोई दर्द यां कोई अन्य तकलीफ़ भी नही होती है. हमारी होमियोपैथी दवाई आपको कुछ महीनों में पूरी तरह स्वास्थ्य कर देती है.

मरीज की पथरियों के आकार(Size) पथरियों की गिनती और पथरियों के कारण अन्य दिक्कतों के अनुसार दवाई 3 महीनों से ज्यादा यां कम चल  सकती है.

पित्त की पथरी(Gall Stones) के ईलाज की अधिक जानकारी लें

अब तक हम हजारों गुर्दे की पथरी के मरीजो का ईलाज जर्मन होम्योपैथिक दवा से कर चुके हैं| देखिये मरीजों की रिपोर्ट्स

हमारे डॉक्टर के बारे में जाने (गुर्दे की पथरी के लिए अनुभवी होम्योपैथिक डॉक्टर)

डॉ. सिमरनजीत कौर बरार

डॉ. सिमरनजीत कौर बरार

बीएचएमएस, सीएनसीसी - मुख्य प्रबंध निदेशक (Reg. No:- CHSM-PB-4000A )

डॉ. सिमरनजीत कौर बरार, बीएचएमएस, सीएनसीसी और एचएमसी पूर्व चिकित्सा अधिकारी- अबोहर, जिन्होंने हमेशा नए युग के स्वास्थ्य समाधान प्रौद्योगिकी के उपयोग के माध्यम से होम्योपैथी के लाभों का विस्तार करने के लिए लगन से काम किया है। डॉ. सिमरनजीत कौर बरार 8 साल से सिर्फ पित्त और गुर्दे की पथरी का ईलाज होम्योपैथिक दवाईओं से मरीज की रिपोर्ट और दिक्क्तों के अनुसार ईलाज कर रहे है | वह गुर्दे की पथरी और गुर्दे की पथरी के कारण दर्द, गैस, बदहजमी, बार बार पथरी बनना , पेशाब में दिक्कत और इसके अलावा अन्य  पथरी की समस्याओं का विशेष रूप से इलाज करते है। उन्होने भारत और दुनिया भर में हजारों रोगियों का सफलतापूर्वक इलाज किया है।

डॉ।. सिमरनजीत Homeo Solutions के संस्थापक और मुख्य प्रबंध निदेशक हैं। होम्योपैथी को एक प्रभावी और वैज्ञानिक चिकित्सा प्रणाली के रूप में स्थापित करने के उद्देश्य से होमियो-सॉल्यूशंस का सेट-अप किया | यहां, वह स्वास्थ्य देखभाल की व्यापक तकनीकों का अभ्यास करते है | उन्होने गुर्दे और पित्त की पथरी की बीमारी, प्रबंधन और उपचार के बारे में कई ब्लॉग भी लिखे हैं। 

उनके विशेषज्ञ मार्गदर्शन में, होमियो-सॉल्यूशंस ने पिछले कई वर्षों में विभिन्न बीमारियों वाले रोगियों के लिए लागत प्रभावी और सुरक्षित उपचार किया है। जब भी मरीज डॉ से संपर्क करते हैं, होमियो-सॉल्यूशंस में डॉ. सिमरनजीत, वह उन्हें एक पारिवारिक चिकित्सक के रूप में मानते है, प्रत्येक रोगी को उन्नत होम्योपैथिक दवाओं और अत्यधिक देखभाल के साथ इलाज किया जाता है।

अगर आप पथरी यां पथरी के कारण किसी अन्य समस्या का होम्योपैथिक दवा से इलाज करवाना चाहते है तो निचे दिए गए फार्म में अपने और आपकी बीमारी के बारे में जानकारी दें| उसके बाद हमारे डॉक्टर आपसे संपर्क करेंगे|

गुर्दे की पथरी का होम्योपैथिक दवा लेने के फायदे – (Gurde ki Pathri ki Homeopathic Dava ke Faide)

होम्योपैथी में गुर्दे की पथरी का बिना ऑपरेशन ईलाज

होम्योपैथी में गुर्दे की पथरी का बिना ऑपरेशन ईलाज

यदि आप बिना सर्जरी के गुर्दे की पथरी का इलाज ढूंढ रहे हैं, तो गुर्दे की पथरी का होम्योपैथिक उपचार आपके लिए सबसे अच्छा विकल्प है। सर्जरी से हमारे शरीर पर कई दुष्प्रभाव पड़ते हैं। गुर्दे की पथरी के इलाज के लिए होम्योपैथिक दवाएं बहुत प्रभावी हैं। होम्योपैथी गुर्दे की पथरी की पुनरावृत्ति को रोकने में भी मदद करती है ताकि पथरी बार-बार न बने।
होम्योपैथी में गुर्दे की पथरी का जड़ से ईलाज

होम्योपैथी में गुर्दे की पथरी का जड़ से ईलाज

हमारी किडनी स्टोन की होम्योपैथिक दवा आपकी बीमारी की जड़ पर काम करती है और पथरी के कारन होने वाली दिक्कतों को ख़तम करती है | यह गुर्दे की पथरी के लिए बिल्कुल हानिरहित और प्राकृतिक उपचार है। गुर्दे की पथरी के लिए हमारी होम्योपैथिक दवा न केवल आपकी पथरी को दूर करती है बल्कि नई पथरी को बनने से भी रोकती है।
गुर्दे की पथरी का सस्ता और प्रभावशाली ईलाज

गुर्दे की पथरी का सस्ता और प्रभावशाली ईलाज

गुर्दे की पथरी के इलाज के लिए हम सिर्फ जर्मन होम्योपैथिक दवा से ईलाज करते है जो बिना किसी दुष्प्रभाव से आपकी बीमारी पर काम करती है| गुर्दे की पथरी के लिए हमारा होम्योपैथी उपचार सस्ता और हानिरहित है। हम पथरी के लिए केवल जर्मन होम्योपैथिक दवाओं का उपयोग करते हैं जो आपको 100% परिणाम देती हैं। गुर्दे की पथरी के लिए होम्योपैथिक दवा का सेवन करने से हमारे शरीर पर कोई दुष्प्रभाव नहीं पड़ता है।

क्या आप होम्योपैथी में गुर्दे की पथरी के इलाज (Homeopathy Mein Gurde ki Pathri ka ilaj) की सही जानकारी चाहते हैं? आज ही फ्री डॉक्टर कंसल्टेशन बुक करें

अब तक हम हजारों मरीजो का पथरी का होम्योपैथिक इलाज कर चुके हैं| उनमे से देखिये कुछ मरीजों की रिपोर्ट्स

पथरी का होम्योपैथिक इलाज दुसरे इलाजों से बेहतर कैसे है?

किडनी स्टोन की होम्योपैथिक दवा और इलाज

होम्योपैथिक एक 100% प्रकृतिक ईलाज है | होम्योपैथिक दवाई सेवन करने से हमारे शरीर पर कोई भी दुष्प्रभाव नहीं होता है। वही दूसरी ओर अँग्रेजी दवाईयों का लंबे समय तक सेवन करने से हमारे शरीर के कई मुख्य अंगो जैसे किडनी, लिवर पर गहरा दुष्प्रभाव पड़ता है।

पथरी के ईलाज के लिए आपको ज्यादातर डॉक्टर ऑपरेशन की सलाह देते हैं जिसके आपके शरीर पर और भी कई दुष्प्रभाव होते हैं और आपका हजारों रूपए ऑपरेशन पर लग जाता है | ऑपरेशन पथरी का पक्का ईलाज नहीं है क्यूंकि ऑपरेशन के बाद भी आपके दुबारा पथरी बनने की संभवना बनी रहती है| 

किडनी स्टोन की होम्योपैथिक दवा और इलाज आपको कुछ महीनों में पूरी तरह स्वास्थ्य कर देती है | क्यूंकि हमारी होम्योपैथिक दवाई पथरी निकालने के साथ साथ पथरी बनने के कारण पर भी काम करती है| हमारी किडनी स्टोन की होम्योपैथिक मेडिसिन आपकी पथरी निकालने के साथ साथ पथरी बनने के कर्ण पर भी काम करती है | गुर्दे में पथरी की दवा, पथरी के कारन होने वाली दिक्कतों को ख़तम करती है और दवा से आपकी पाचन शक्ति बढ़ती है |

गुर्दे की पथरी(Stone) क्या हैं?

पथरी(Stone) एक क्रिस्टलीय और हार्ड मिनरल सामग्री है, जो किडनी के भीतर या हमारे मूत्र पथ में बनती है। किडनी स्टोन हेमेटुरिया (मूत्र में रक्त) का एक आम कारण हैं और अक्सर पेट, ग्रोइन या फ्लैंक में गंभीर दर्द होता है। किडनी स्टोन को कभी-कभी रेनल कॅल्क्युली भी कहा जाता है।

किडनी स्टोन या कई स्टोन की स्थिति को नेफ्रोलिथियासिस कहा जाता है। हालांकि, मूत्र पथ में अन्य स्थानों में स्टोन को यूरोलिथियासिस के रूप में जाना जाता है। कोई भी व्यक्ति इस बीमारी को विकसित कर सकता है, लेकिन कुछ बीमारियों और स्थितियों वाले लोग या कैल्शियम युक्त एंटासिड्स, मूत्रवर्धक और प्रोटीज़ अवरोधक जैसी कुछ दवाएं लेने वाले लोग इस बीमारी के लिए अधिक संवेदनशील होते हैं।

यह बीमारी महिलाओं की तुलना में पुरुषों में अधिक आम है।

गुर्दे की पथरी के क्या लक्षण है?

गुर्दे की पथरी के लक्षण

गुर्दे की पथरी से पीठ या पेट के निचले हिस्से में तेज दर्द हो सकता है, जो कुछ मिनटो या घंटो तक बना रह सकता है। इसमें दर्द के साथ जी मिचलाने तथा उल्टी की शिकायत भी हो सकती है। यदि मूत्र संबंधी प्रणाली के किसी भाग में संक्रमण है तो इसके लक्षणों में बुखार, कंपकंपी, पसीना आना, पेशाब आने के साथ-साथ दर्द होना आदि भी शामिल हो सकते हैं मूत्र में रक्त भी आ सकता है।

  1. यूरीन में ब्‍लड
  2. दर्द के साथ बार-बार यूरीन आना
  3. पीठ दर्द
  4. मतली और उल्टी
  5. बदबूदार यूरीन
  6. बैठने में परेशानी
  7. बुखार और ठंड महसूस होना
  8. किडनी और पेट में सूजन
गुर्दे की पथरी के कारण क्या हैं?

गुर्दे की पथरी के कारण

निर्जलीकरण: गुर्दे की पथरी के निर्माण के लिए एक प्रमुख कारण निर्जलीकरण (शरीर के पानी की कमी ) है। कड़ी मेहनत, तरल पदार्थों का कम सेवन, काम या सूखी-गर्म जगह पर रहने के कारण निर्जलीकरण हो सकता है।

आहार: मूत्र में कैल्शियम का उच्च स्तर गुर्दे की पथरी के सबसे सामान्य कारणों में से एक है। जिस तरह से आपका शरीर कैल्शियम को संभालता है, उससे उच्च मूत्र कैल्शियम का स्तर हो सकता है। गोमांस, मछली, चिकन और सूअर का मांस जैसे उच्च प्रोटीन आहार से शरीर और मूत्र में एसिड का स्तर बढ़ जाएगा। यूरिक एसिड में मांस के क्षरण से कैल्शियम और यूरिक एसिड दोनों से पत्थरी  बनने की संभावना है।

मेडिकल परिस्थिति: एक या एक से अधिक पैराथायराइड ग्रंथियों की अनियमित वृद्धि जो कैल्शियम के मेटाबोलिज्म को नियंत्रित करती है और इसलिए रक्त और मूत्र में कैल्शियम के उच्च स्तर का कारण गुर्दे की पथरी का कारण बनती है। गुर्दे की पथरी में कैल्शियम फॉस्फेट का खतरा डिस्टल रीनल ट्यूबलर एसिडोसिस नामक स्थिति के कारण बढ़ सकता है जिसमें शरीर में एसिड का निर्माण होता है।

कमज़ोर आंत्र की स्थिति: दस्त, अल्सरेटिव कोलाइटिस या क्रोहन और रोग के कारण कुछ आंत्र की स्थिति, गैस्ट्रिक बाईपास सर्जरी से कैल्शियम ऑक्सालेट से बनी पथरी के विकास का खतरा बढ़ सकता है।

मोटापा: पत्थरी के लिए अन्य कारण मोटापा है। मोटापा मूत्र प्रणाली में एसिड के स्तर को प्रभावित कर सकता है, जिससे पथरी बन सकती है।

वंशानुक्रम: कुछ असामान्य, वंशानुगत स्थितियां भी कुछ प्रकार के पत्थरी की संभावना को बढ़ा सकती हैं। उदाहरण के लिए, यकृत स्थितियों, सिस्टिनुरिया और प्राथमिक हाइपरॉक्सालुरिया में बहुत अधिक ऑक्सालेट पैदा करता है।

दवा के कारण: कैल्शियम और विटामिन सी की कई दवाएँ और सप्लीमेंट आपके पथरी बनने के खतरे को बढ़ा सकते हैं।

गुर्दे की पथरी हो तो क्या खाना चाहिए?

गुर्दे की पथरी के लिए खान पान

नीचे सूचीबद्ध किसी भी घरेलू उपचार को शुरू करने से पहले डॉक्टर से बात करें।

1. पानी पीने के फ़ायदे

डॉक्टरों के अनुसार सामान्य 8 के बजाय प्रतिदिन 12 गिलास पानी पीने का  प्रयास करें। एक बार पत्थरी निकलने के बाद, आपको प्रत्येक दिन 8 से 12 गिलास पानी पीना जारी रखना चाहिए। कम मात्रा में पानी पीना  गुर्दे की पथरी के लिए मुख्य जोखिम कारकों में से एक है | अपने मूत्र के रंग पर ध्यान दें। यह बहुत हल्का पीला होना चाहिए। गहरा पीला मूत्र कम पानी पीने का संकेत है।

2. तुलसी के रस के फ़ायदे

तुलसी में एसिटिक एसिड होता है, जो गुर्दे की पथरी को तोड़ने और दर्द को कम करने में मदद करता है। यह पोषक तत्वों से भी भरा होता है | इस उपाय का उपयोग पारंपरिक रूप से पाचन को सही करने के लिए किया गया है। यह गुर्दे को स्वस्थ बनाए रखने में मदद कर सकता है। चाय बनाने के लिए ताजा या सूखे तुलसी के पत्तों का उपयोग करें। आप घर पर भी ताजा तुलसी का रस निकाल सकते हैं

 तुलसी के रस को ज्यादा पीने  नुकसान 

आपको एक बार में 6 सप्ताह से अधिक समय तक औषधीय तुलसी के रस का उपयोग नहीं करना चाहिए। विस्तृत उपयोग से नुक्सान हो सकते हैं |

  • कम ब्लड शुगर।

  • कम ब्लड प्रेशर।

  • खून का बहना |

3. अजवाइन का रस के फ़ायदे

अजवाइन का रस कई अनचाहे पदार्थों को दूर करने के लिए अच्छा माना जाता है, जो गुर्दे की पथरी के निर्माण में योगदान करते हैं और लंबे समय से पारंपरिक दवाओं में उपयोग किया जाता है। यह शरीर में से पथरी को बाहर निकालने में भी मदद करता है | एक या एक से अधिक अजवाइन के डंठल को पानी के साथ ब्लेंड करें, और रस को पीएं।

इन परेशानियों में आपको इस मिश्रण को नहीं पीना चाहिए

  • किसी भी प्रकार से खून का आना ।

  • कम ब्लड प्रेशर।

  • एक अनुसूचित सर्जरी।

4. अनार के रस के फायदे

अनार के रस का उपयोग सदियों से समग्र गुर्दे में सुधार के लिए किया जाता रहा है। यह आपके सिस्टम से पत्थरों और अन्य अनचाहे पदार्थों को बहा देने में काम करता है । यह एंटीऑक्सीडेंट से भरा हुआ है, जो गुर्दे को स्वस्थ रखने में मदद करता है और गुर्दे की पथरी को विकसित होने से रोकने में भूमिका निभाता है |

गुर्दे की पथरी को रोकने पर अनार के रस के प्रभाव को बेहतर देखने के लिए अध्ययन करने की आवश्यकता है लेकिन पत्थरों के जोखिम को कम करने में अनार कुछ लाभदायक प्रतीत होता है।

5. राजमा खाने के फ़ायदे

पके हुए राजमा एक पारंपरिक व्यंजन है, जिसका उपयोग अक्सर भारत में किया जाता है, जिसका उपयोग पूर्ण रूप से मूत्र और गुर्दे के स्वास्थ्य में सुधार के लिए किया जाता है। यह पत्थरों को तोड़ने और बाहर निकालने में भी मदद करता है।

6. गेहूं के रस के फ़ायदे और नुकसान

गेहूं का रस कई पोषक तत्वों से भरा होता है और लंबे समय से स्वास्थ्य को बढ़ाने के लिए उपयोग किया जाता है। पत्थरों को निकालने में मदद करने के लिए मूत्र प्रवाह को बढ़ाता है। इसमें महत्वपूर्ण पोषक तत्व भी होते हैं जो गुर्दे को साफ करने में मदद करते हैं। आप प्रति दिन 2 से 8 औंस गेहूं का रस पी सकते हैं। दुष्प्रभावों को रोकने के लिए, संभव सबसे कम मात्रा से शुरू करें और धीरे-धीरे 8 औंस तक करें। खाली पेट गेहूं का रस लेने से उल्टी वाला जोखिम कम हो सकता है | कुछ मामलों में, यह भूख में कमी और कब्ज का कारण भी हो सकता है।

गुर्दे की पथरी हो तो क्या नहीं खाना चाहिए?

गुर्दे की पथरी के लिए खाने का परहेज

नमक कम मात्रा में ले

शरीर में उच्च मात्रा में सोडियम, मूत्र में कैल्शियम बिल्डर को बढ़ावा दे सकता है। खाद्य पदार्थों पर लेबल की जांच करें कि उसमें कितना सोडियम है। फास्ट फूड में सोडियम उच्च हो सकता है, लेकिन नियमित रूप से होटल का भोजन कर सकते हैं। जब आप सक्षम हों, तो आप मेनू में जो भी ऑर्डर करते हैं, उसमें कोई ज्यादा नमक तो नहीं है | इसके अलावा, आप जो भी पीते हैं, उस पर ध्यान दें। कुछ सब्जियों के रस में अधिक सोडियम होता है।

अपने भोजन में मांसाहारी प्रोटीन का सेवन कम करें

प्रोटीन के कई स्रोत है जैसे की-

  • रेड मीट

  • पोल्ट्री

  • मछली और अंडे, जो की यूरिक एसिड की मात्रा को बढ़ावा देते है

 बड़ी मात्रा में प्रोटीन खाने से मूत्र में एक रसायन भी कम हो जाता है जिसे साइट्रेट कहा जाता है। साइट्रेट का काम गुर्दे की पथरी को बनने से रोकता है। वैसे तो प्रोटीन स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है, इसलिए अपने डॉक्टर से सलाह लें के आपको रोजाना कितना प्रोटीन खाना चाहिए।

कोका कोला पीने के नुकसान

कोका कोला पीने से बचें। कोका कोला फॉस्फेट में उच्च है, एक अन्य रसायन जो गुर्दे की पथरी के गठन को बढ़ावा दे सकता है।

चीनी की मात्रा को कम कर दीजिये या बंद कर दीजिये

शक्कर और शक्कर सिरप जो की खाने वाली और पीने वाली चीजों में पाए जाते है | सुक्रोज और फ्रुक्टोज गुर्दे की पथरी के जोखिम को बढ़ा सकता है। जैसे की-

  •  केक

  • फलों में

  • शीतल पेय में

  • जूस में और इसलिए आपके द्वारा खाए जानी वाले चीनी की मात्रा पर नज़र रखें।

अपने वर्तमान आहार और पोषण योजना में परिवर्तन करने से गुर्दे की पथरी को रोकने की दिशा में एक लंबा रास्ता तय किया जा सकता है।

 कम मात्रा में सोडियम खाएं

ज्यादा मात्रा में नमक से आपको गुर्दे की पथरी का खतरा बढ़ जाता है। कम नमक खाने से मूत्र में कैल्शियम का स्तर कम रखने में मदद मिलती है। मूत्र में कैल्शियम जितना कम होगा, गुर्दे की पथरी विकसित होने का खतरा कम होगा।

अपने सोडियम सेवन को कम करने के लिए, खाने वाले पदार्थों पर लगे लेबल को ध्यान से पढ़ें।

सोडियम में उच्च होने वाले खाद्य पदार्थों में शामिल हैं:

  • जैसे की चिप्स

  • डिब्बाबंद सूप

  • डिब्बाबंद सब्जियां

  • दोपहर का भोजन

  • मसालों में

नमक का उपयोग किए बिना खाद्य पदार्थों का स्वाद लेने के लिए, ताजा जड़ी बूटियों या नमक मुक्त, हर्बल मसाला मिश्रण का प्रयोग करें।

कम ऑक्सालेट युक्त खाद्य पदार्थ का उपयोग करें

कुछ गुर्दे की पथरी ऑक्सालेट से बनी होती है, जो खाद्य पदार्थों में पाया जाने वाला एक प्राकृतिक यौगिक है जो गुर्दे की पथरी बनाने के लिए मूत्र में कैल्शियम के साथ बांधता है।ऑक्सलेट युक्त खाद्य पदार्थों को सीमित करने से पत्थरों को बनने से रोकने में मदद मिल सकती है।

ऑक्सालेट्स में उच्च मात्रा में पाए जाने वाले खाद्य पदार्थ हैं:

  • पालक

  • चॉकलेट

  • शकरकंद

  • कॉफ़ी

  • मूंगफली

  • सोया उत्पाद

गुर्दे तक पहुंचने से पहले पाचन तंत्र में ऑक्सालेट और कैल्शियम एक साथ बांधते हैं, इसलिए यदि आप एक ही समय में उच्च-ऑक्सलेट खाद्य पदार्थ और कैल्शियम युक्त खाद्य पदार्थ खाते हैं तो पत्थरों का निर्माण करना कठिन है।

कम प्रोटीन वाली मात्रा वाला मासाहारी खाना खाइए

मासाहारी खाने में उच्च प्रोटीन वाले खाद्य पदार्थ पाए जाते है और मूत्र एसिड को बढ़ा सकते हैं। उच्च मूत्र एसिड यूरिक एसिड और कैल्शियम ऑक्सालेट गुर्दे की पथरी दोनों का कारण हो सकता है।

आपको इन्हे कम करने या बचने की कोशिश करनी चाहिए:

  • रेड मीट
  • पोल्ट्री
  • मछली और अंडे, जो की यूरिक एसिड की मात्रा को बढ़ावा देते है

विटामिन सी की खुराक को ज्यादा लेने से बचें

विटामिन सी गुर्दे की पथरी का कारण बन सकती है,खासकर पुरुषों में। 2013 के एक अध्ययन के अनुसार,विटामिन सी की खुराक की उच्च खुराक लेने वाले पुरुषों ने गुर्दे की पथरी बनाने के अपने जोखिम को दोगुना कर दिया।

किडनी स्टोन डाइट के लिए क्या सुझाव है?

किडनी स्टोन की डाइट के जरूरी सुझाब

गुर्दे की पथरी एक बार होने से उनके फिर से होने का खतरा बढ़ जाता है, जब तक कि आप उन्हें रोकने के लिए पूर्ण रूप से काम नहीं करते। इसका मतलब है कि इस उद्देश्य के लिए आपको निर्धारित दवाएं लेना,और यह देखना कि आप क्या खाते हैं और क्या पीते हैं।

यदि आपको पत्थरी हैं, तो आपके डॉक्टर कुछ टेस्ट करवा सकते है, यह देखने के लिए कि आपको किस प्रकार की पथरी है।  और वे आपके लिए एक जरुरी आहार लिखेंगे, सुझाव में जो मदद करेंगे उनमें शामिल हैं:

  • रोजाना कम से कम बारह गिलास पानी पिएं ।

  • संतरे का रस पिए |

  • प्रत्येक भोजन में कैल्शियम युक्त भोजन खाएं, दिन में कम से कम तीन बार।

  • मासाहरी भोजन का सेवन कम करें |

  • नमक, चीनी का सेवन कम करें |

  • कुछ भी खाने या पीने से बचें जो आपको निर्जलित करता है, जैसे कि शराब।

गुर्दे की पथरी हो तो हाइड्रेटेड रहना कितना महत्वपूर्ण है

गुर्दे की पथरी में हाइड्रेटेड रहना कितना महत्वपूर्ण

बहुत सारे पीने वाले तरल पदार्थ गुर्दे की पथरी को निकालने और नए पत्थरों को बनने से रोकने का एक महत्वपूर्ण काम करते है |  न केवल तरल पदार्थों को बाहर निकालता है, बल्कि यह आपके मूत्र पथ के माध्यम से पत्थरों को स्थानांतरित करने और तोड़ने में भी मदद करता है।

गुर्दे की पथरी की रोकथाम किस तरह कर सकते हैं?

गुर्दे की पथरी की रोकथाम

जिन के पाथरी बार बार बनती है उनको प्रति दिन कम से कम 2.5 लीटर मूत्र निकालने के लिए पर्याप्त पानी या तरल पदार्थ पीना चाहिए।ज्यादा पानी और तरल पदार्थ पीने से आपके मूत्र के सल्टॅ को पतला कर देगी और गुर्दे की पथरी बनने से भी रोकेगी। ऐसा करने से, अधिकांश गुर्दे की पथरी अपने आप ही समय के साथ मूत्र के माध्यम से गुजर जाएगी।

गुर्दे की पथरी कितने तरह की होती है ?

गुर्दे की पथरी के प्रकार 

1.कैल्शियम स्टोन: कैल्शियम ऑक्सालेट और कैल्शियम फॉस्फेट से बने स्टोन

कैल्शियम पत्थर प्रमुख गुर्दे के पत्थर, जिसमें सभी मूत्र पथरी का लगभग 80% हिस्सा होता है |

2.मैग्नीशियम अमोनियम फॉस्फेट से बने पत्थर

मैग्नीशियम अमोनियम फॉस्फेट पत्थर 10-15% की सीमा तक होते हैं और इसे संक्रमण पत्थर और ट्रिपल फास्फेट पत्थर भी कहा जाता है।

3.यूरिक एसिड से बने स्टोन्स 

यह पत्थर सभी प्रकारों के लगभग 3-10% के लिए जिम्मेदार है | विशेष रूप से मांस और मछली जैसे पशु प्रोटीन आहार वाले परिणामस्वरूप यूरिक एसिड पत्थर के गठन को बढ़ावा देते है |

4.सिस्टीन से बने स्टोन्स

इन पत्थरों में सभी प्रकारों के पथरो का 2% से कम हिस्सा शामिल है। यह एक अमीनो एसिड और सिस्टीन के परिवहन का एक आनुवंशिक विकार है।

गुर्दे की पथरी का दर्द कहाँ होता है?

गुर्दे की पथरी का दर्द

  • गुर्दे की पथरी से होने वाला दर्द आमतौर पर पीठ के एक तरफ़, खासकर पसलियों के नीचे होता है |
  • यह दर्द पेट में भी महसूस हो सकता है |
  • जब पथरी मूत्रमार्ग की तरफ़ जाती है, तो दर्द पेट के निचले हिस्से और पेढ़ू-जांघ जोड़ तक पहुंच जाता है |
  • यह दर्द आमतौर पर 5-15 मिनट तक रहता है |
  • पथरी निकालते समय दर्द का होना सबसे आम है |
गुर्दे की पथरी के बारे में कैसे पता लगा सकते है ?

गुर्दे की पथरी के लिए टेस्ट 

अल्ट्रासाउंड द्वारा –  एक अल्ट्रासाउंड आपके पेट की छवियों का उत्पादन करता है। यह पुष्टि करने के लिए पसंदीदा  विधि है जिससे पता लगता है कि आपके गुर्दे में पथरी है जा नहीं है।

रक्त परीक्षण – कैल्शियम, फास्फोरस, यूरिक एसिड और इलेक्ट्रोलाइट्स की सामग्री की जांच करने के लिए इस परीक्षण का सुझाव दिया जा सकता है

अन्य जाँच –  एक्स-रे,  एमआरआई और सीटी स्कैन

गुर्दे की पथरी का इलाज कैसे किया जाये ?

गुर्दे की पथरी का इलाज – Gurde Ki Pathri Ka ilaj

 ज़्यादातर, आपका डॉक्टर सर्जरी की सिफारिश करेगा यदि आप सर्जरी करवाने की अवस्था या अभी सर्जरी नहीं करवाना चाहते तो आप हमारे डॉक्टर  से परामर्श  कर के होम्योपैथी में गुर्दे की पथरी का ईलाज शुरू करवा सकते है | यदि आपको गुर्दे की पथरी है और कोई लक्षण नहीं हैं, तो आप अपनी रोज की व्यस्त जीवन में बदलाव कर सकते हैं।

गुर्दे की पथरी का घरेलू उपचार क्या है?

गुर्दे की पथरी का घरेलू उपचार

गुर्दे की पथरी एक बार होने से उनके फिर से होने का खतरा बढ़ जाता है, जब तक कि आप उन्हें रोकने के लिए पूर्ण रूप से काम नहीं करते। इसका मतलब है कि इस उद्देश्य के लिए आपको निर्धारित दवाएं लेना,और यह देखना कि आप क्या खाते हैं और क्या पीते हैं।

  • रोजाना कम से कम बारह गिलास पानी पिएं ।

  • संतरे का रस पिए |

  • प्रत्येक भोजन में कैल्शियम युक्त भोजन खाएं, दिन में कम से कम तीन बार।

  • मासाहरी भोजन का सेवन कम करें |

  • नमक, चीनी का सेवन कम करें |

  • कुछ भी खाने या पीने से बचें जो आपको निर्जलित करता है, जैसे कि शराब।

क्या होम्योपैथिक दवाएं गुर्दे की पथरी का इलाज कर सकती हैं?

किडनी स्टोन की होम्योपैथिक दवा और इलाज

होम्योपैथी में गुर्दे की पथरी का इलाज बहुत कारगर है।  होम्योपैथिक दवा गुर्दे की पथरी को घोलने में मदद करती है और फिर निकल सकती है।

गुर्दे की पथरी की पुनरावृत्ति को होम्योपैथी रोकने में मदद करती है ताकि बार-बार पथरी न बने।

गुर्दे की पथरी के लिए सबसे उपयोगी उपचार हैं बर्बेरिस वुल्गारिस, हाइड्रेंजिया आर्बोरेसेंस, लाइकोपोडियम क्लैवाटम,कंठारिस वेसिकाटोरिया, सरसापैरिला ऑफिसिनेलिस, ओसिमम कैनम और तबैकम आदि दवाओं का उपयोग किया जाता है। कुछ मामलों में पथरी को साफ होने में लगभग 3 से 6 महीने और कुछ में 1  से 2  तक का समय लग सकता है।

जर्मन होम्योपैथिक दवाओं से गुर्दे की पथरी का इलाज रोग की जड़ का इलाज करता है और स्थायी प्रभाव देता है। यह गुर्दे की पथरी के लिए बिल्कुल हानिरहित और प्राकृतिक उपचार है।

किडनी स्टोन की होम्योपैथिक दवा और इलाज संक्रमण और पुनरावृत्ति के कारण से लड़ने के लिए शरीर की अपनी प्रतिरक्षा शक्ति को बढ़ाने में मदद करती हैं। आप अपनी जीवन शैली को बदलकर और होम्योपैथी में गुर्दे की पथरी का इलाज करवाकर पथरी के खतरे से बच सकते हैं। गुर्दे की पथरी के लिए होम्योपैथी दवाइयों ने इन लक्षणों में  सबसे महत्वपूर्ण परिणाम दिखाए हैं:

  • गुर्दे की पथरी के लिए मूत्र के माध्यम से गुजरने की संभावना में सुधार।
  • पत्थरी से जुड़े दर्द और मूत्र में खून से राहत।
  • सिस्टिटिस का इलाज।
  • पेशाब में जलन से राहत।
  • मूत्र प्रवाह से संबंधित समस्याओं का इलाज।
  • पुनरावृत्ति की संभावना को कम करना।
गुर्दे की पथरी की होम्योपैथी दवा कितनी लाभदायक है?

पथरी के होम्योपैथिक उपचार के लाभ

गुर्दे की पथरी के इलाज में होम्योपैथिक दवाएं बहुत प्रभावी हैं। छोटे से मध्यम आकार के गुर्दे की पथररीयों को होम्योपैथी उपचार से पूरी तरह से निकाला जा सकता  है |

होम्योपैथिक डॉक्टर मरीज के सभी लक्षणों, मानसिक स्थिति, चिकित्सीय और शारीरिक परीक्षण का अध्ययन करने के बाद ही दवा लिखते हैं। ऐसा यह सुनिश्चित करने के लिए किया जाता है कि रोगी को सबसे प्रभावी दवा मिले और उसे किसी भी दुष्प्रभाव का अनुभव न हो।

गुर्दे की पथरी के होम्योपैथिक उपचार के क्या नुक्सान है?

गुर्दे की पथरी के होम्योपैथिक उपचार के नुक्सान

होम्योपैथिक दवाओं के दुष्प्रभाव मामूली या दुर्लभ होते हैं। चूँकि ये दवाएँ तत्‍वों से बनी होती हैं, इसलिए इनका उपयोग करने पर साइड इफेक्ट का जोखिम अन्य उपचारों की तुलना में स्वचालित रूप से कम हो जाता है।
होम्योपैथिक दवाओं की प्रभावशीलता और सुरक्षा नैदानिक ​​​​अध्ययनों में भी साबित हुई है।

गुर्दे की पथरी की होम्योपैथिक दवाएं कौन सी है?

गुर्दे की पथरी की होम्योपैथिक दवा – Gurde Ki Pathri  Ki Homeopathic Dawa

गुर्दे की पथरी के लिए यह कुछ होम्योपैथिक दवाओं को प्रभावी रूप में जाना जाता है; बर्बेरिस वल्गैरिस, हाइड्रेंजिया आर्बोरेसेंस, लाइकोपोडियम क्लैवाटम, कैंथारिस वेसिकटोरिया, सरसापैरिला ऑफिसिसिनालिस, ओसिमम कैनम और तबैकम।

किडनी स्टोन के लिए बेस्ट होम्योपैथिक दवा (kidney stone ke liye best medicines)

  • बर्बेरिस वुल्गारिस और हैडोमा पुलेगाइड्स: यह बाई ओर गुर्दे की पथरी का इलाज करने वाली शीर्ष दवाओं में से एक है। एक सामान्य लक्षण जो बर्बेरिस वुल्गारिस के उपयोग को निर्देशित करता है, वह गुर्दे का दर्द है जो मूत्राशय और मूत्रवाहिनी में जाता है।

 

  • हाइड्रेंजिया आर्बोरेसेंस: इस होम्योपैथिक दवा को आमतौर पर स्टोन ब्रेकर के रूप में जाना जाता है। आमतौर पर इसका उपयोग गुर्दे की पथरी, मूत्रवाहिनी की पथरी और पित्ताशय की पथरी को कुचलने के लिए किया जाता है। यदि आप मूत्र में सफेद या पीले रेत को पहचानते हैं, तो हाइड्रेंजिया आर्बोरेसेंस मूत्रवाहिनी की पथरी के लिए एक सुनिश्चित होम्योपैथी दवा है।

 

  • लाइकोपोडियम क्लैवाटम: दाहिने ओर की किडनी की पथरी के इलाज के लिए यह होम्योपैथी दवा का एक बेहतरीन विकल्प है।

 

  • कंठारिस वेसिकाटोरिया: यदि आपको पेशाब करते समय तेज जलन महसूस हो रही हो तो कंठारिस वेसिकोरिया किडनी स्टोन में बहुत मदद करता है।

 

  • सरसापैरिला ऑफिसिनेलिस: यह दवा आमतौर पर दाएं तरफा गुर्दे की पथरी के इलाज के लिए निर्धारित है। सरसापैरिला ऑफिसिनेलिस एक दवा है जिसका उपयोग गुर्दे की पथरी के लिए किया जा सकता है, जो पेशाब के अंत में तीव्र जलन के साथ होता है।

 

  • ओसिमम कैनम और तबैकम: ओसिमम मतली या उल्टी के साथ दाहिने हाथ के गुर्दे की पथरी के इलाज में उल्लेखनीय परिणाम दिखाती हैं, जबकि तबैकम मतली या उल्टी के साथ बाएं तरफा गुर्दे की पथरी के इलाज के लिए निर्धारित है।

होम्योपैथी व्यक्तिगत करण पर काम करती है। प्रत्येक रोगी के लिए दवा का चयन रोगी के संकेतों और लक्षणों के अनुसार किया जाता है। होम्योपैथिक चिकित्सक से परामर्श के बाद हमेशा होम्योपैथिक दवा लें।बार बार पथरी होने की संभावना वाले व्यक्तियों के लिए, होम्योपैथिक उपचार की लंबी अवधि का सुझाव दिया जा सकता है।

क्या गुर्दे की पथरी बिना सर्जरी के घुल सकती है?

गुर्दे की पथरी का बिना ऑपरेशन इलाज

गुर्दे की पथरी के इलाज में होम्योपैथिक दवा बहुत कारगर है। होम्योपैथिक दवा गुर्दे की पथरी को घोलने में मदद करती है |  इसलिए व्यक्ति की शारीरिक संरचना और उसके लक्षणों के आधार पर, कुछ होम्योपैथिक दवाओं का उपयोग किया जाता है। गुर्दे की पथरी की पुनरावृत्ति को होम्योपैथी रोकने में मदद करती है ताकि बार-बार पथरी न बने। जर्मन होम्योपैथिक दवाओं से गुर्दे की पथरी का इलाज हमारे शरीर पर कोई दुष्प्रभाव नहीं डालता है।

क्या गुर्दे की पथरी अपने आप निकल सकती है?
अगर  गुर्दे की पथरी 3 MM से काम है तो अपने आप निकल सकती है, लेकिन जे हर केस में जरूरी नहीं है |

गुर्दे की पथरी के लिए होम्योपैथिक दवा रोग की जड़ का इलाज करती है और स्थायी प्रभाव देती है। जर्मन होम्योपैथिक दवाओं से गुर्दे की पथरी के  उपचार से पथरी घुल सकती है और आसानी से निकल सकती हैं। पथरी तोड़ने के लिए होम्योपैथिक दवा बहुत कारगर पायी गयी है | पेशाब की नली में पथरी की होम्योपैथिक दवा लेने से पथरी जल्दी घुल सकती है और पथरी निकल सकती है|

होम्योपैथी से गुर्दे की पथरी से छुटकारा पाने में कितना समय लगता है?
होम्योपैथी में गुर्दे की पथरी के इलाज के लिए कुछ मामलों में पथरी को साफ होने में लगभग 3 से 6 महीने और कुछ में 1 से 2 साल तक का समय लग सकता है।
क्या होम्योपैथी गुर्दे की पथरी के लिए प्रभावी है?

बिना ऑपरेशन पथरी का इलाज

होम्योपैथी में गुर्दे की पथरी का ईलाज जड़ से काम करता है और बिना किसी प्रतिकूल प्रभाव के पथरी को निकालता है और सर्जरी की आवश्यकता नहीं होती है। यही कारण है कि अब दुनिया भर में इतने सारे मरीज लागत-प्रभावी मूल्य पर अत्यधिक प्रभावी और सुरक्षित उपचार के लिए होम्योपैथी में बदल रहे हैं।

अब तक हम हजारों गुर्दे की पथरी के मरीजो का ईलाज जर्मन होम्योपैथिक दवा से कर चुके हैं| देखिये मरीजों की रिपोर्ट्स

हमारे ईलाज के बारे में लोगों के विचार

अब तक दुनिया भर मे हजारों मरीज घर बैठे किडनी स्टोन की होम्योपैथिक दवा से पथरी से छुटकारा पा चुके हैं | आइये जाने कुछ लोगों के अनुभव

मेरे गुर्दे में पथरी थी , मैंने अपने किसी रिश्तेदार के कहने पर यहाँ से दवाई मंगवाई थी। डॉक्टर से बात करने से ही मुझे विश्वास हो गया कि मेरी समस्या का समाधान हो जायेगा। 3 महीने दवाई खाने के बाद मैंने जब अल्ट्रा साऊंड करवाया तो पथरी निकल चुकी थी।
राजपाल सिंह

कानपूर

मेरे गाल-ब्लैडर में 8mm की पथरी थी | बहुत दवाएं खायी लेकिन कोई फर्क नहीं पड़ा | में ऑपरेशन करवाने से डरता था और दर्द भी बहुत तेज होता था | मेरे दोस्त के कहने पर मेनें Homeo Solutions से दवाई खायी | 3 महीने बाद रिपोर्ट करवाई तो पथरी  निकल चुकी थी और डॉक्टर के कहने के मुताबिक मेरे दर्द भी बिलकुल नहीं हुआ |
राम मनोहर

जयपुर

में डॉक्टर का बहुत धन्यवाद करना चाहता हूँ के मेरे किडनी स्टोन ऑपरेशन का 40,000-50,000 बच गया | मेरा रिश्तेदार यहाँ से दवाई लेकर ठीक हुआ था उसके कहने पर मेने यहाँ  से दवाई मंगवाई और बिना किसी तकलीफ के मेरी 5 mm की स्टोन 3 महीने में निकल गयी |
विशाल सेहगल

नागपुर

फ्री डॉक्टर कंसल्टेशन कैसे बुक करें 

  1. निचे दिए गए फॉर्म में हमे मरीज के बारे में जानकारी दें|
  2. मरीज की रिपोर्टस हमें व्हाट्सएप्प(WhatsApp) पर भेज दे|
  3. हमारे स्टाफ के सदस्य आपसे अधिक जानकारी लेने के लिए कॉल करेंगे|
  4. आपकी रिपोर्टस आने के बाद हमारे डॉक्टर आपसे कॉल करके बीमारी के बारे में पूरी जानकारी लेंगे| 
  5. डॉक्टर से कंसल्ट करने के बाद आप दवा आर्डर कर सकते है , आपके दिए गए पत्ते(Address) पर दवाई 4-5 दिन में पहुँच जाएगी| 

इस आर्डर में शामिल हैं:-

  • 3 महीने की पथरी की दवा
  • दवाई के कोर्स के दौरान 3 बार फ्री डॉक्टर कंसल्टेशनस
  • पथरी के कारन होने वाली दिक्क्तों की दवाएं
  • दुबारा पथरी बनने से रोकने की दवा 
  • डॉक्टर की प्रिस्क्रिप्शन(Prescription)
  • दवाई को लेने का तरीका
  • शामिल करने और बचने के लिए खाद्य पदार्थों की सूची

3 महीनों के दवा कोर्स की कीमत

पथरी के ईलाज के लिए हमारा 3 महीने की दवा का कोर्स है| ईलाज के लिए हम सिर्फ जर्मन होम्योपैथिक दवायों का इस्तेमाल करते हैं,  जो पथरी और पथरी के  कारण होने वाले दर्द वह अन्य दिक्कतों को जल्दी ठीक करने में सक्षम है| 

  • कैश  ऑन  डिलीवरी – 2500/-   
  • ऑनलाइन – 2300/- (200 डिस्काउंट)
  • डिलीवरी- FREE

फ्री डॉक्टर कंसल्टेशन बुक करने के लिए हमें निचे दिए गये फार्म में पूरी जानकारी दें

नोट:- जो मरीज ऑनलाइन फार्म भरेंगे, वह प्राथमिकता पर डॉक्टर कंसल्टेशन बुक कर सकते हैं | 

Call Now Button